स्पीड पोस्ट क्या है ? स्पीड पोस्ट कैसे ट्रेक करें? Speed post kya hai? – 2022

स्पीड पोस्ट क्या है?: नमस्कार दोस्तों, वर्तमान में इन्टरनेट और ईमेल एक जमाने में काफी लोग है जो स्पीड पोस्ट और पोस्ट ऑफिस के बारे में शायद कम ही जानते है। क्या आप जानते है की speed post kya hai? स्पीड पोस्ट कैसे काम करता है ? स्पीड पोस्ट का क्या शुल्क देना होता है ? इत्यादि।

अगर आप नहीं जानते हैं तो आपको इस लेख में इसी के बारे में बताया जाएगा ताकि आपको इसके बारे में पूरी जानकरी मिल सके।

स्पीड पोस्ट क्या है ? 

भारतीय पोस्ट की यह सबसे फ़ास्ट और सबसे आधुनिक मानी जाने वाली एक सेवा है। ऐसा भी माना जाता है की यह Registre Post से ज्यादा सुरक्षित और इससे तेज है। देश की आजादी के बाद भारतीय पोस्ट में काफी बदलाव और काफी सुधार आये। इस सेवा की शुरुआत भी काफी जल्दी हुई मानी जाती है।

स्पीड पोस्ट क्या है

Speed Post की शुरुआत कब हुई ? 

हमारे देश में पोस्ट ऑफिस और पोस्ट सर्विस की शुरुआत को काफी पहले हो चुकी थी। भारतीय पोस्ट सेवा में इस स्पीड पोस्ट की सेवा की शुरुआत 1986 में की गई थी। जब इस पोस्ट सेवा की शुरुआत की गई थी तब इसका नाम EMS Speed Post था। वर्तमान में इस सर्विस का नाम Speed Post है। 

इस स्पीड पोस्ट का उद्देश्य केवल एक जगह से दूसरी और देश के भीतर काफी तेजी से और काफी गति से पोस्ट और डाक भेजना था। इतना ही नही इस पोस्ट की मदद से काफी तेजी से देश के ऐसे कोनो में भी अपनी पोस्ट पंहुचा सकते है जो कोई भी सामान्य करियर कंपनी नहीं कर सकती है। 

इस स्पीड पोस्ट की शुरुआत के बाद से ही इसकी मांग इतनी बढ़ गई थी जिसके बाद इसका काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाने लगा। इसके बाद से लेकर आज तक इस तरह की सुविधा का काफी ज्यादा इस्तेमाल किया आ रहा है।

भी पढ़ें – फेसबुक क्या है?

Speed Post की शुरुआत क्यों की गई ? 

भारत में पहले से ही पोस्ट की सुविधा थी परन्तु बावजूद इसके इस नई पोस्ट की शुरुआत क्यों की गई ? भारत में इस स्पीड पोस्ट की शुरुआत करने का पीछे एक ही उद्देश्य था की पहले कोई भी चिट्ठी या सन्देश भेजने और उसका पहुचने में काफी समय लग जाता था जिस कारण से कई तरह की असुविधा लोगो को और पोस्ट विभाग को होती थी। 

वर्तमान में इसकी शुरुआत की मदद से ही हम अपनी कोई भी चिट्ठी और अपने सन्देश को एक जगह से दूसरी जगह भेज सकते है। इस सर्विस का निर्माण करने के पीछे का एक ही उद्देश्य था की कोई भी वस्तु और सामान को एक जगह से दूसरी जगह पर तेजी से पंहुचा जाया जा सके। 

Speed Post से किस प्रकार के सामान पहुचा सकते है ? 

वैसे तो यह एक ऐसी सेवा है जिसके माध्यम से हम कई प्रकार के सामान एक जगह से दुसरे जगह पर पंहुचा सकते है। इसमें कोई विशेष प्रकार की सेवा नही है। इसमें कोई भी वस्तु,दस्तावेज इतियादी सामान एक जगह से दूसरी जगह तक पंहुचा सकते है। इसमें आपको कुछ निस्चित शुल्क भी देना होता है जिसके बाद आप इस सर्विस का लाभ ले सकते है।

  • किसी भी तरह से दस्तावेज। 
  • इसके अलावा इसमें आप कोई भी सामान भेज सकते है जो इस स्पीड पोस्ट की सेवा के लिए लायक है। 

Speed Post कैसे करे ? 

स्पीड पोस्ट भेजने के लिए आपको इन कुहक बिन्दुओं की जानकारी रखना जरुरी है। इसका यह सबसे बड़ा फायदा है की आप किस प्रकार से इस स्पीड पोस्ट को भेज सकेंगे। यह है कुछ सामान्य जानकारी और इससे जुड़े बिंदु। 

  • अपने सामान को भेजने के लिए उसके एक ऐसे लिफाफे में पैक करे जिसकी साइज़ सरकारी नियम के अनुसार सही हो। 
  • इसके अलावा हमारी राय यह है की आप इसके लिए जिस लिफाफे का इस्तेमाल करते है उसे Post office से ही ख़रीदे ताकि आपको उसमे साइज़ का कोज झंझट नही रहे और उसे आसानी उस लिफाफे में सामान पैक कर सके और उसे भेज सके।
  • अगर आप लिफाफा Post office से ही खरीदते है तो उसके लिए आपको उस पर To और From लिखने की जरूरत नही होती है, वही अगर आप इसे बाहर से खरीदते है और उस पर आपको यह लिखना पड़ सकता है। 
  • पोस्ट के लिफाफे पर भेजने वाले और जिसके पास जाएगा उसका पूरा पता और मोबाइल नंबर भी लिखना जरुरी है ताकि पहुचने में कोई दिक्कत नही हो और अगर वो पोस्ट गलती से वापस आ जाए तो उसे आप तक पहुचने में कोई दिक्कत नही हो। 
  • आप जिस लिफाफे में स्पीड पोस्ट में भेजने वाले सामान को पैक करते है तो उस पर SPEED POST लिखना जरुरी है।
  • इसके बाद आपको इसको उस पोस्ट ऑफिस में जमा करवाना होता है ताकि वो उसका टोल करेंगे और उसके बाद उनकी WEIGHT के आधार पर ही आपसे चार्ज किया जाएगा। 
  • स्पीड पोस्ट सबमिट होने के बाद आपको एक Consignment Number दिया जाएगा जिसे आपको संभाल कर रखना होता है ताकि आप उस पोस्ट को ट्रैक कर सके। 

स्पीड पोस्ट को भेजने के लिए आपको केवल पोस्ट ऑफिस में ही जाना होता है। इसके अलावा आप इसे कही से नही भेज सकते है। यह इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि इसमें सामान और भेजे गए वस्तु को तोल कर भेजा जाता है। 

पोस्ट ऑफिस से पोस्ट भेजने के बाद आपको जो नंबर और ट्रैक नंबर दिया जाता है जिसकी मदद से आप काफी आसानी से अपनी पोस्ट को ट्रैक कर सकते है।

भी पढ़ें – गूगल प्ले स्टोर क्या है?

Speed Post को कैसे ट्रैक करे ? 

जैसे ही आप स्पीड पोस्ट भेजते है तो आपको उसके बाद एक Consignment Number दिया जाता है जिसकी मदद से आप उसे ट्रैक कर सकते है। किसी भी स्पीड पोस्ट को ट्रैक करने के लिए आप इस प्रोसेस को फॉलो कर सकते है – 

Step 1 – स्पीड पोस्ट को ट्रैक करने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आना होता है।

Step 2 – इसके बाद आपको इसी पेज पर बायीं और एक आप्शन दिखाई देगा जिस पर आपको Consignment Number डालना होता है। 

Step 3 – Consignment number डालने के बाद आपको इसमें नीच दिए गए Captcha भी डालना होता है। 

Step 4 – उसके बाद आपको नीचे की और Track Now का एक आप्शन दिखाई देगा है, इस पर क्लिक करने के बाद आपको आपके पोस्ट का डाटा मिल मिल जाएगा की यह अब तक कहा पहुची है और आपने जहा भेजी है वहा पहुचने में कितना Time लगेगा।

SMS के जरिये ट्रैक करे स्पीड पोस्ट 

अगर आपके पास मोबाइल नही है और आप यह नही देख पा रहे है की आपकी स्पीड पोस्ट कहा तक पहुची है तो आप इसके अलावा SMS के जरिये भी चेक कर सकते है। इसके लिए आपको इस प्रोसेस को फॉलो कर सकते है। 

सबसे पहले आपको अपने मोबाइल के SMS में POST TRACK लिखना होता है और उसके आगे ही आपके Tracking Number भी डालने होते है। इसके बाद उस SMS को आपको 166 या 51969 पर भेजना होता है। 

इसके कुछ समय के बाद ही आपके पास एक नया SMS आ जायेगा जिसमे आपको इसकी पूरी जानकारी मिल जायेगी और आपके पोस्ट के बारे में यह भी बताया जाएगा की आपका पोस्ट कब तक वहा पहुचेगा जहा पहुचना चाहिए। इन सब के बारे में भी जानकारी इस SMS में मिल जायेगी।

भी पढ़ें – स्पीड पोस्ट क्या है?

Speed Post भेजने के लिए चार्ज

स्पीड पोस्ट भारतीय डाक सेवा की एक प्रीमियम सेवा है। इस डाक सेवा को करने के लिए आपको अलग – अलग प्रकार के शुल्क देने होते है। यह सेवा के रूप में आपसे शुल्क लिए जाते है। यह शुल्क कुछ इस प्रकार है। 

भारस्थाएनीय200 किमी तक201 से 1000 कि मी तक1001 से 2000 कि मी तक2000 कि मी से अधिक
50 ग्रामरु।12रु 25रु 25रु 25रु 25
51 से 200 ग्रामरु 20रु 25रु 30रु 50रु 60
201 से 500 ग्रामरु 20रु 40रु 45रु 70रु 80
अतिरिक्‍त 500 ग्राम अथवा उसका अंशरु 5रु 7-50रु 15रु 30रु 40​

इसके प्राइस और भार परिवर्तित भी किये जा सकते है। यह पूरा अधिकार भारतीय पोस्ट सेवा और भारतीय पोस्ट विभाग के पास है। 

Speed Post ऐसे काम करता है ? 

Speed Post कैसे काम करता है इसके बार में जानकारी भी आपको होनी चाहिए। यह काफी सामान्य है परन्तु इसमें आपको किस प्रकार से जानकारी मिल सकती है, यह सबसे ज्यादा जरुरी है। 

हम जानते है की हमारे देश के हर कौने में आज के समय भारतीय पोस्ट ऑफिस और इससे जुड़े कार्यालय है। हमारे डेस्क में तक़रीबन हर शहर, गाँव में इसका ऑफिस होने के कारण यह काफी आसान हो जाता है की यह एकदम आसानी से आपको पोस्ट पंहुचा देता है। 

जैसे ही आप किसी भी पोस्ट ऑफिस से आप कोई पोस्ट भेजते है, जरुरी नही की केवल स्पीड पोस्ट ही हो। आपके पोस्ट भेजने के बाद ही आपका यह पोस्ट उस पोस्ट ऑफिस में भेज दिया जाता है जहा और जिसके नजदीक आप उसे भेजना चाहते है। यह पोस्ट एक जगह से दूसरी जगह भेजने के लिए रेलवे का इस्तेमाल करते है। भारतीय रेल की मदद से यह पोस्ट एक जगह से दूसरी जगह पर भेजी जाती है। 

हमारे देश में स्पीड पोस्ट के 1200 से भी अधिक शहरों में ऑफिस यानी कार्यालय है। इसके अलावा इसके 290 शहरी और तक़रीबन 1000 से भी अधिक स्पीड पोस्ट राज्य के नेटवर्क है। इन नेटवर्क की वजह से ही हमारी पोस्ट एक जगह से दूसरी जगह तक जा पाती है। वैसे यह भारतीय डाक सेवा का सबसे अच्छा पोस्ट है जिसके माध्यम से आप आसानी से अपनी डाक को एक जगहसे दूसरी जगह पर भेज सकते है। 

ये भी पढ़ें – गूगल मेरा घर कहाँ है? गूगल लोकेशन क्या है?

Speed Post Address टिप्स

हम यह जानकारी स्पीड पोस्ट की आधिकारिक वेबसाइट के आधार पर शेयर कर रहे है। इसके आधार पर आपको किस प्रकार की जानकारी अपने पते में भरनी चाहिए और किस प्रकार की जानकारी आपको सामने वाले के पते की यानी जिसको भेज रहे है उसके बारे में भरनी चाहिए। यह वो टिप कुछ इस प्रकार है – 

  • सबसे पहले आपको इस बात की जानकारी रखनी होती है की आपको आपका नाम और आपका पता इसके साथ ही सामने वाले का नाम और पता जहा पर आपको वो डाक भेजनी है वो एकदम साफ़ – साफ़ और क्लियर लिखे। 
  • इसके बाद दूसरा सबसे ज्यादा गलती किया जाने वाला पॉइंट है की आपको जो नाम जहा लिखना है वो नाम वही लिखे ताकि आपको और पोस्टमेन को कोई दिक्कत नही हो और पोस्ट सही समय पर पहुच सके। जहा पर To वाला पता लिखा होता है वो वही लिखे और जहा From वाला पता लिखना हो वो वही लिखे, ताकि यह पढने पर समझने में आसानी हो। 
  • पते को लिखते समय उसको साफ़ और खुले – खुले अक्षर में लिखे ताकि पढने में आसानी हो और इसको आसानी से पढ़ा जा सके। 
  • जो भी पता आप लिखे वो कम से कम छोटे परन्तु पढने लायक शब्दों में लिखे ताकि इसे आसानी से समझा जा सके। 
  • अगर आप किसी कंपनी की तरह से कोई स्पीड पोस्ट भेज रहे है तो इसमें आपको उस कंपनी का लोगो और नाम लिखना जरुरी है। यह इसलिए जरुरी है की इससे आपकी पहचान आसानी से की जा सके और अगर स्पीड पोस्ट से नही पहुचे तो उस कंपनी में वापस आ सके। 
  • जिसको स्पीड पोस्ट भेजा जा रहा है उसका पता एकदम सही और स्पष्ठ रूप में लिखा जाना चाहिए ताकि पढने वाले को आसानी से समझ में आ सके। 
  • किसी भी स्पीड पोस्ट के लिफाफे को सही ढंग से पैक करे और उसके बाद उसको भेजे ताकि ऐसी कोई दिक्कत नही आये की अगर बीच रास्ते में खुल गया इतियादी। 
  • स्पीड पोस्ट के ट्रैकिंग कोड को अंतिम तक यानी जब तक पोस्ट नही पहुचे तब तक संभाल कर रखे। 

अंतिम शब्द 

इस लेख में आपको Speed post kya hai के बारे में बताया गया है। उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!